Fresh Updates

हज यात्रा पर जीएसटी घटने से हवाई किराये में उल्लेखनीय कमी सुनिश्चित होगी

केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज नई दिल्ली में कहा कि आजादी के बाद पहली बार भारत से 2,300 से भी अधिक मुस्लिम महिलाएं वर्ष 2019 के दौरान मेहरम (पुरुष सहयोगी) के बिना ही हज यात्रा पर जाएंगी।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के हज प्रभाग के नए कार्यालय परिसर का आर.के. पुरम, नई दिल्ली में उद्घाटन करते हुए श्री नकवी ने कहा कि देश के विभिन्न राज्यों में रहने वाली 2340 मुस्लिम महिलाओं ने मेहरम के बिना हज 2019 पर जाने के लिए आवेदन किया है। इस वर्ष भी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के निर्देश पर अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने लॉटरी प्रणाली के बिना ही इन महिलाओं को हज पर भेजने की व्यवस्था की है।
केन्द्र की मोदी सरकार ने पिछले वर्ष पहली बार मेहरम के बिना महिलाओं के हज यात्रा पर जाने पर लगे प्रतिबंध को हटाया था। इसके परिणामस्वरूप बिना किसी पुरुष सहयोगी के भारत की लगभग 1300 मुस्लिम महिलाएं हज 2018 पर गई थीं। इन महिलाओं को लॉटरी प्रणाली से छूट दी गई थी। उन्होंने कहा कि हज 2019 के लिए लगभग 2.67 लाख आवेदन प्राप्त हुए हैं जिनमें से 1,64,902 आवेदन ऑनलाइन प्राप्त हुए हैं।
श्री नकवी ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार भारत से रिकॉर्ड संख्या में मुस्लिम हज यात्रा 2018 पर गए थे और वह भी बिना किसी सब्सिडी के ही वे हज यात्रा पर गए थे। भारत से रिकॉर्ड संख्या में 1,75,025 मुस्लिम हज यात्रा 2018 पर गए थे जिनमें लगभग 48 प्रतिशत महिलाएं शामिल हैं।
श्री नकवी ने कहा कि हज यात्रा पर जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) को 18 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया गया है जिससे हज यात्रा 2019 के दौरान हज यात्रीगण लगभग 113 करोड़ रुपये की बचत कर सकेंगे। हज यात्रा पर जीएसटी घटने की बदौलत विभिन्न स्थानों से हवाई यात्रा के किरायों में उल्लेखनीय कमी सुनिश्चित होगी। इस वर्ष श्रीनगर से हवाई किराये में 11377.07 रुपये और अहमदाबाद से हवाई किराये में 7305.95 रुपये की कमी होगी। इसी तरह औरंगाबाद, दिल्ली, गया, गुवाहाटी, रांची, कोलकाता और हैदराबाद से हवाई किराया क्रमशः 9373.68, 7967.62, 11027.85, 13049.63, 11946.84, 9787.22 एवं 7204.87 रुपये घट जाएगा।
श्री नकवी ने कहा कि हज प्रक्रिया को पूरी तरह ऑनलाइन/डिजिटल कर देने से समूची हज प्रक्रिया को पारदर्शी एवं हज यात्रियों के अनुकूल बनाने में मदद मिली है। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने सऊदी अरब हज वाणिज्य दूतावास, भारत की हज समिति और अन्य संबंधित एजेंसियों के सहयोग से हज यात्रा 2019 की तैयारियां निर्धारित समय से तीन माह पहले ही पूरी कर ली हैं, ताकि हज यात्रा इस वर्ष समस्त हज यात्रियों के लिए अत्यंत सुविधाजनक हो सके।

No comments