राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने आज प्रयागराज कुंभ में परमार्थ निकेतन शिविर में तीन दिवसीय गांधीवादी पुनरुत्थान शीर्ष सम्मेलन का उद्घाटन किया। शीर्ष सम्मेलन में देश के विभिन्न भागों से आए लगभग 300 गांधीवादी संगठन हिस्सा ले रहे हैं।

आयोजन में राष्ट्रपति ने कहा कि दुनिया में कुंभ मानवता का सबसे बड़ा संगम है। वह महात्मा गांधी के स्वच्छता और छुआछूत के समूल नाश का संदेश प्रसारित करने का महान मंच उपलब्ध करा रहा है। उन्होंने कहा कि यह राष्ट्रपिता को सच्ची श्रद्धांजलि है। उन्होंने कुंभ को सफल बनाने के लिए राज्य सरकार और उसके अधिकारियों की प्रशंसा की। इसके पूर्व देश की प्रथम महिला श्रीमती सविता कोविंद ने कुंभ में शानदार योगदान के लिए पारंपरिक केवट समुदाय की 9 महिलाओं को सम्मानित किया।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मकर संक्रांति के दो दिवसीय स्नान पर्व के दौरान लगभग दो करोड़ 25 लाख श्रद्धालुओं ने पवित्र संगम में डुबकी लगाई है। परमार्थ निकेतन में आयोजित तीन दिवसीय गांधीवादी पुनरुत्थान शीर्ष सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने पहले शाही स्नान के समुचित प्रबंध करने के लिए मेला अधिकारियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि स्वच्छता और सफाई को मेले के दौरान उच्च प्राथमिकता दी जा रही है और मेले में समुचित सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने कहा कि मेला क्षेत्र को खुले में शौच से मुक्त रखने के लिए एक लाख से अधिक शौचालय बनाए गए हैं।
मेला क्षेत्र के आसपास अभेद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पहली बार एकीकृत नियंत्रण और कमान केंद्र स्थापित किया गया है। इसके लिए मेले में एक हजार से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।
प्रयागराज कुंभ 2019 इसलिए अविस्मणीय रहेगा क्योंकि 450 वर्षों के बाद आम जन के लिए अक्षय वट और सरस्वती कूप के दरवाजे खोल दिए गए। श्रद्धालु बहुत पहले से यह मांग कर रहे थे।

Share To:

News For Bharat

Post A Comment:

0 comments so far,add yours