उभरते प्रौद्योगिकी का अधिकतम इस्तेमाल करते हुए आधुनिकीकरण की ओर बढ़ रही भारतीय सेना ने 11 जनवरी, 2019 को दिल्ली कैंट के मानेकशॉ केंद्र में युद्ध क्षेत्र में उभरती प्रौद्योगिकी के विध्वंसक प्रभाव की थीम पर सेना प्रौद्योगिकी सेमीनार- 2019 (आरटेक 2019) का आयोजन किया। सेमीनार का उद्देश्य युद्ध पर प्रभाव डालने वाले उपलब्ध और उभरती प्रौद्योगिकी के स्वरूप को सैन्य, शिक्षा क्षेत्र और उद्योग से जुड़े साझेदारों को उपलब्ध कराना है। इस मौके पर रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत, रक्षा उत्पाद विभाग के सचिव श्री अजय कुमार और रक्षा मंत्रालय, सेना, शिक्षा क्षेत्र और नागरिक सुरक्षा उद्योग से जुड़ी अन्य बड़ी हस्तियां मौजूद थीं।
मौके पर मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि प्रौद्योगिकी खलल युद्ध के स्वरुप को तेजी से बदल रहे हैं और भविष्य में युद्ध पूरे क्षेत्र में लड़े जाएंगे जहां सैन्य शक्ति बढ़ाने में नेटवर्क और एकीकरण अहम भूमिका निभाएंगे। सेमीनार के दौरान सेना, डीआरडीओ, शिक्षा क्षेत्र और उद्योगों द्वारा विकसित सैन्य साजो सामान की एक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया। 
Share To:

News For Bharat

Post A Comment:

0 comments so far,add yours