प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने इंडोनेशिया में ज्‍वालामुखी आने के बाद त्‍सुनामी के कारण लोगों की मौत पर शोक व्‍यक्‍त किया है।
प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में कहा, ‘इंडोनेशिया में ज्‍वालामुखी आने के बाद त्‍सुनामी के कारण लोगों की मौत और तबाही से दु:खी हूं। शोकसंतप्‍त परिवारों के लिए मेरी संवेदनाएं हैं और घायल लोगों के शीघ्र स्‍वस्‍थ होने की कामना करता हूं। भारत राहत कार्य में अपने इस पड़ोसी और मित्र की सहायता के लिए तैयार है।’ 

इंडोनेशिया में शनिवार रात को सुनामी ने तबाही मचाई है. इस घटना में अबतक 63 लोगों की मौत की खबरें हैं, जबकि 600 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं. राहत और बचाव एजेंसियां रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गई हैं. रिपोर्ट के मुताबिक सुनामी स्थानीय समय के अनुसार रात 9.30 बजे आया. समाचार एजेंसियों के मुताबिक सुनामी में दर्जनों इमारतें बह गईं, जबकि समुद्र में मौजूद कई नावें भी लापता हैं. सुनामी से प्रभावित इलाकों में पैंनदेंगलैंग, सेरांग, और दक्षिण लाम्पुंग के इलाके शामिल हैं. ये क्षेत्र सुंदा स्ट्रेट में पड़ता है.
इंडोनेशिया के नेशनल डिजास्टर मिटिगेसन एजेंसी के प्रमुख सुतपाओ ने कहा है कि ताजा जानकारी मिलने तक 63 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. सुतपाओ ने बताया कि सुनामी आने से पहले समुद्र की तटहटी में भौगोलिक हलचल हुई. इसकी वजह से कुछ ही देर पहले Anak Krakatau ज्वालामुखी में विस्फोट हुआ था. उन्होंने कहा, ” समुद्र की तलहटी में लैंडस्लाइड हुई इसके बाद Anak Krakatau ज्वालामुखी सक्रिय हो गया, फिर समुद्र में ऊंची लहरें उठीं. Anak Krakatau एक छोटा वॉल्कैनिक द्वीप है. ये द्वीप 1883 में क्रैकटो ज्वालामुखी के फटने के बाद वजूद में आया था.
Share To:

News For Bharat

Post A Comment:

0 comments so far,add yours