केन्द्रीय वस्त्र मंत्री श्रीमती स्मृति जूबिन इरानी ने कल (06 अक्तूबर, 2018) को  नई दिल्ली के आईजीएनसीए मेंरिविजटिंग गांधी : द आर्ट ऑफ शेली ज्योति’ प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। इस समारोह के अवसर पर महात्मा गांधी की पोती एवं कस्तुरबा गांधी राष्ट्रीय संग्रहालय स्मारक की ट्रस्टी श्रीमती तारा गांधी भट्टाचार्जी, आईजीएनए के सदस्य सचिव डॉ. सच्चिदानंद जोशी, एम.एस विश्वविद्यालय, वड़ोदरा की कुलपति राजमाता शुभांगी राजे गायकवाड़ भी विशिष्ट अतिथि थीं।

वस्त्र मंत्री श्रीमती स्मृति इरानी ने समारोह को संबोधित करते हुए ऐसी उत्कृष्ट प्रदर्शनी को संभव बना पाने के लिए आईजीएनसीए के प्रयासों की सराहना की। शेली ज्योति की शानदार कलाकृति की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि इस प्रदर्शनी ने भारत की अनुठी शिल्प तकनीकों एवं परंपराओं के माध्यम से कलाकार की अवधारणा और रूपरेखाओं को रूपांतरित कर दिया है।
महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर गांधी पर्व के रूप में आयोजित यह प्रदर्शनी अहसास कराती है कि समाज के संपूर्ण रूपांतरण के अंतिम लक्ष्य के साथ गांधी जी ने स्व-रूपांतरण की जो प्रेरणा दी तथा जिसे कार्य में ढाला, वह अनवरत जारी तथा सदा उपस्थित रहने वाली प्रक्रिया है। कलाकृतियों में नैतिक एवं शांतिपूर्ण समाजों के सृजन के लिए राष्ट्र निर्माण के गांधी जी के विचार पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

कलाकारों ने बौद्धिक, ऐतिहासिक, आध्यात्मिक एवं कलात्मक विचारों तथा परंपराओं को आगे बढ़ाया है जो हालांकि अतीत से जुड़े रहे हैं लेकिन अभी भी पल्लवित और पुष्पित होते हैं। 2009 और 2018 के बीच सृजित इन उत्कृष्ट वस्त्र कलाकृतियों के माध्यम से कलाकार ने भारतीय इतिहास और पहचान – स्वराज, खादी, नमक और नील - से जुड़े गांधीवादी विचार में प्रमुख विषय वस्तुओं के लिए भौतिक रूप प्राप्त किया है। यह प्रदर्शनी आम जनता के लिए सोमवार को छोड़कर सप्ताह के सभी दिनों में 21 अक्तूबर, 2018 तक सुबह 10.30 बजे से शाम 7.00 बजे तक खुली रहेगी।  
Share To:

News For Bharat

Post A Comment:

0 comments so far,add yours