जापान का सामुद्रिक स्व-रक्षाबल (जेएमएसडीएफ) जहाज कागा, एक इज्यूमो क्लास हेलीकॉप्टर डिस्ट्रॉयर तथा इनाजुमा – एक गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर 07 अक्तूबर, 2018 को विशाखापत्तनम पहुंचे। रियर एडमिरल तत्सुया फुकादा, कमांडर, एस्कॉर्ट फ्लोटिला – 4 (सीसीएफ-4) 07 से 15 अक्तूबर, 2018 तक भारतीय नौसेना के पूर्वी बेड़े के जहाजों के साथ जापान-भारत सामुद्रिक अभ्यास (जेआईएमईएक्स) के तीसरे संस्करण में भाग लेंगे। (जेआईएमईएक्स18) का लक्ष्य अंतः सक्रियता बढ़ाना, आपसी समझ को बेहतर करना तथा एक-दूसरे के सर्वश्रेष्ठ प्रचलनों को अपनाना है।

भारतीय नौसेना का प्रतिनिधित्व स्वदेशी रूप से डिजाइन तथा निर्मित जंगी जहाजों एवं एक फ्लीट टैंकर द्वारा किया जाएगा। जो जहाज इसमें भाग ले रहे हैं, उनमें आईएनएस सतपुरा, मल्टीपर्पस स्टील्थ फ्रिगेट, आईएनएस केडमेट, एंटी-सबमरीन वॉरफेयर कॉरवेट, मिसाइल कॉरवेट एवं आईएनएस शक्ति, फ्लीट टैंकर शामिल है।
(जेआईएमईएक्स18) आठ दिनों तक चलेगा जिसमें चार-चार दिनों के हार्बर एवं समुद्री चरण शामिल होंगे। जेआईएमईएक्स का पिछला संस्करण चेन्नई में दिसंबर, 2013 में आयोजित किया गया था।
Share To:

News For Bharat

Post A Comment:

0 comments so far,add yours