Breaking News

भिलाई इस्‍पात संयंत्र दुर्घटना के मृतकों के परिवारों को 30-30 लाख रुपये मुआवजा

केन्‍द्रीय इस्‍पात मंत्री चौधरी बीरेन्‍दर सिंह ने आज भिलाई इस्‍पात संयंत्र दुर्घटना में घायल लोगों की स्थिति और उनके इलाज के बारे में अस्‍पताल जाकर पूछताछ की। श्री चौधरी ने घायलों के परिवार के सदस्‍यों से बातचीत की। उन्‍होंने दुर्घटना में मारे गए प्रत्‍येक मृतक के परिवारजनों को 30-30 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को 15-15 लाख रुपये तथा मामूली रूप से घायल लोगों को दो-दो लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की।

इस्‍पात मंत्री ने घोषणा की कि मृतकों के परिवारों को मुआवजे के अलावा कंपनी द्वारा 33 लाख रुपये से लेकर 90 लाख रुपये तक समस्‍त वेतन और अन्‍य भत्ते मिलेंगे। श्री चौधरी ने भारतीय इस्‍पात प्राधिकरण लिमिटेड (सेल) को निर्देश दिया कि दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिवारों के लिए रोजगार और बच्‍चों के लिए स्‍नातक स्‍तर तक मुफ्त शिक्षा की व्‍यवस्‍था करे।
जलने से घायल दो और कर्मचारियों के दम तोड़ देने के साथ ही मृतकों की संख्‍या 11 हो गई है। 10 घायलों का भिलाई इस्‍पात संयंत्र अस्‍पताल में इलाज चल रहा है और दो व्‍यक्तियों को गंभीर अवस्‍था में आईसीयू में भर्ती कराया गया है।
एम्‍स, दिल्‍ली के बर्न्‍स विभाग के प्रमुख डॉ. मनीष सिंघल ने भिलाई इस्‍पात संयंत्र अस्‍पताल जाकर घायलों के इलाज पर संतोष व्‍यक्‍त किया।
इस्‍पात मंत्रालय विशेषज्ञों की एक बाहरी समिति स्‍थापित करने की प्रक्रिया में है और इस बारे में जल्‍दी ही आदेश जारी कर दिया जाएगा।
इस्‍पात मंत्री ने अस्‍पताल का दौरा करने के बाद सेल के अधिकारियों के साथ बैठक की और निर्देश दिया कि इस दुर्घटना में मारे गए कर्मचारियों और घायलों के परिवारों के पुनर्वास तथा सभी भुगतान तेजी से सुनिश्चित करने की जिम्‍मेदारी संयंत्र के एक वरिष्‍ठ अधिकारी को सौंप दी जाए।
संयंत्र के दो वरिष्‍ठ अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है और संयंत्र के सीईओ को इस दुर्घटना के बाद ड्यूटी से वंचित कर दिया गया है।