Breaking News

विज्ञान और शोध मानवता की भलाई के लिए उपयोगी होने चाहिए : उपराष्‍ट्रपति

उपराष्‍ट्रपति श्री एम.वेंकैया नायडू ने कहा है कि डाटा प्रदान करने में वैज्ञानिकों की भूमिका महत्‍वपूर्ण होती है और वैज्ञानिकों को बेहतर शासन संचालन के लिए रणनीतियां तैयार करने में साधारण लोगों  प्रमुख रूप से किसानों, की आवश्‍यकताओं पर फोकस करना चाहिए। उपराष्‍ट्रपति आज हैदराबाद में राष्‍ट्रीय दूर संवेदी केन्‍द्र (एनआरएससी) में वैज्ञानिक और शोधकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर इसरो के अध्‍यक्ष डॉ. के.शिवन तथा अन्‍य प्रमुख अतिथि उपस्थित थे।

उपराष्‍ट्रप‍ति ने कहा कि इसरो अपनी अत्‍याधुनिक सुविधाओं के साथ ग्रामीण और शहरी विकास के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी बढ़ा रहा है। उन्‍होंने बताया कि इसरो अगले वर्ष चन्द्रयान-2 लॉन्‍च करने की तैयारी कर रहा है। उपराष्‍ट्रपति ने इसरो की उपलब्धियों की सराहना करते हुए कहा कि इस प्रतिष्ठित संगठन को समाज के लाभ के लिए भविष्‍य की नवाचारी परियोजनाएं लानी चाहिए।
उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि ग्रामीण विकास देश के विकास के लिए महत्‍वपूर्ण है और इसके लिए देश में  अनेक राष्‍ट्रीय अग्रणी कार्यक्रम लागू किये जा रहे है। इन योजनाओं को कारगर ढंग से लागू करने के लिए संसाधनों की मैपिंग और देखरेख के लिए उपग्रह डाटा का अधिकतम उपयोग करने की आवश्‍यकता है और साथ-साथ प्रभाव मूल्‍यांकन अध्‍ययन प्रांरभ करने की आवश्‍यकता है।
उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि नागरिक केन्द्रित सेवाओं की बढ़ती मांग को देखते हुए एनआरएससी को उपग्रह डाटा उपलब्‍ध कराने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभानी होगी और क्षमता सृजन के लिए विभिन्‍न राज्‍यों के साथ तकनीकी बातचीत बढ़ानी होगी। उन्‍होंने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि एनआरएससी राष्‍ट्रीय अग्रणी कार्यक्रमों के लिए नवाचारी नागरिक केन्द्रित एप्‍लीकेशनों को प्रारंभ करेगा।