प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज आणंद में अमूल के अत्याधुनिक चॉकलेट संयंत्र सहित आधुनिक खाद्य प्रसंस्करण सुविधा केंद्रों का उद्घाटन किया। उन्होंने चॉकलेट संयंत्र का अवलोकन किया एवं वहां उन्हें उपयोग में लाई जा रही विभिन्न प्रौद्योगिकियों एवं वहां बनाये जा रहे विभिन्न उत्पादों के बारे में जानकरी दी गई।
इस अवसर पर उन्होंने आणंद के लोगों को इतनी बढ़ी संख्या में वहां उपस्थित होने पर धन्यवाद दिया।

उन्होंने कहा कि आज जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया जा रहा है, वे सहकारी संघ के लिए बहुत शुभ हैं। उन्होंने कहा कि अमूल के ब्रांड को दुनिया भर में जाना जाता है और यह दुनिया भर में प्रेरणा का एक स्रोत बन गया है। उन्होंने कहा कि अमूल का संबंध न केवल दुग्ध प्रसंस्करण से है बल्कि यह अधिकारिता का भी एक शानदार मॉडल है।
उन्होंने कहा कि सहकारी संघों के जरिये सरदार पटेल ने एक ऐसा रास्ता दिखाया जिसमें न तो किसी सरकार और न ही किसी उद्योगपति का ही कोई अधिकार है। उन्होंने कहा कि यह एक अनोखा मॉडल है जहां लोग ही मायने रखते हैं। उन्होंने कहा कि गुजरात में सहकारी क्षेत्र में किए गए प्रयासों ने लोगों की, खासकर, किसानों की सहायता की है। उन्होंने शहरी विकास पर सरदार पटेल द्वारा बल दिए जाने का भी स्मरण किया।
प्रधानमंत्री ने 2022 में भारत की आजादी के 75वीं वर्षगांठ का उल्लेख करते हुए कहा कि भारत दुग्ध क्षेत्र में बढि़या प्रदर्शन कर रहा है लेकिन वह और भी अच्छा कर सकता है। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि नवोन्मेषण एवं मूल्य संवर्द्धन को महत्व दिया जाए। इस संदर्भ में उन्होंने शहद के उत्पादन की भी चर्चा की।
Share To:

News For Bharat

Post A Comment:

0 comments so far,add yours