सशक्त आर्थिक आधारभूत ढांचे की आवश्यकता के लिए संबधित अधिनियम को समकालीन बनाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार ने प्रतिस्पर्धा अधिनियम की समीक्षा के लिए प्रतिस्पर्धा अधिनियम समीक्षा समिति का गठन किया है।

वर्ष 2002 में प्रतिस्पर्धा अधिनियम पारित के बाद भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग की स्थापना की गई। वर्ष 2009 से भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने कार्य करना प्रारंभ किया और देश में प्रतिस्पर्धा के विकास और बाजार में उचित नीतियों के प्रयोग के प्रति सराहनीय कार्य किया। गत 9 वर्षों में भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी से वृद्धि हुई है और आज भारत दुनिया की पांच सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में से एक है और इसके और प्रगति करने की आशा है। इस संदर्भ में प्रतिस्पर्धा अधिनियम को सशक्त करने और नागरिकों को सर्वश्रेष्ठ नियमों द्वारा उनके द्वारा दिए गए मूल्यों के अनुरूप गुणवत्ता को प्राप्त करने के लिए प्रतिस्पर्धा अधिनियम को सशक्त करने की आवश्यकता है।
Share To:

News For Bharat

Post A Comment:

0 comments so far,add yours