सहायक सचिव कार्यक्रम के समापन सत्र में आज नई दिल्ली में 2016 बैच के आईएएस अधिकारियों ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के समक्ष प्रेजेंटेशन दिया।
अधिकारियों द्वारा आठ चयनित प्रेजेंटेशन दिए गए। यह प्रेजेंटेशन कृषि आय बढ़ाने, मृदा स्वास्थ्य कार्ड, शिकायत निवारण, नागरिक केंद्रित सेवाओं, विद्युत क्षेत्र में सुधार, पर्यटक सहायता, ई-नीलामी तथा स्मार्ट शहरी विकास विषयों पर दिए गए ।

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि सहायक सचिवों का कार्यक्रम कनिष्ठ और वरिष्ठ अधिकारियों को एक-दूसरे के साथ बातचीत करने का अवसर प्रदान करता है। प्रधानमंत्री ने सहायक सचिवों को आने वाले समय में विभिन्न मंत्रालयों के साथ जुड़ने के दौरान अपने अनुभवों से निकली श्रेष्ठ बातों को ग्रहण करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने युवा अधिकारियों से कहा कि वे सरकार से लोगों की अपेक्षा को ध्यान में रखें। प्रधानमंत्री ने अधिकारियों को आसपास के लोगों तथा अपने कर्तव्यों के दौरान मिलने वाले लोगों से संपर्क विकसित करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि कार्यों और उद्देश्यों में सफल होने के लिए लोगों के साथ नजदीकी संबंध विकसित करना महत्वपूर्ण है।
प्रधानमंत्री ने युवा अधिकारियों द्वारा दिए गए प्रेजेंटेशन की सराहना की।
इस अवसर पर कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन राज्य मंत्री डॉक्टर जितेन्द्र सिंह, मंत्रिमंडल सचिव श्री पी.के.सिन्हा, प्रधानमंत्री के अपर प्रधान सचिव डॉक्टर पी.के.मिश्रा, कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग के सचिव श्री सी.चन्द्रमौली तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।  
Share To:

News For Bharat

Post A Comment:

0 comments so far,add yours