Breaking News

श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संतोष कुमार गंगवार ने आज आंध्र प्रदेश में तिरूपति में 100 उन्नत बिस्तर वाले ईएसआई अस्पताल का उद्घाटन किया।
इस अवसर पर मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए श्री गंगवार ने कहा कि 50 बिस्तर वाले ईएसआई अस्पताल का नवीनीकरण और उन्नयन कर इसे लगभग 110 करोड़ रुपये की लागत से 100 बिस्तर वाला अस्पताल बना दिया गया है। इसमें बेसमेंट, ग्राउंड और पांच फ्लोर हैं। यह अस्पताल पूरी वातानुकूलित है, जिसमें विभिन्न विभागों में इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इसमें ओपीडी, आईपीडी, वार्ड, आपातकालीन, नैदानिक सेवाएं, ऑपरेशन थिएटर, आईसीयू, एनआईसीयू, सिटी स्कैन, एक्सरे और कई अधिक सुविधाएं उपलब्ध हैं। अस्पताल के नवीनीकरण और उन्नयन से तीन लाख से अधिक बीमित व्यक्तियों और उनके आश्रितों को फायदा मिलेगा।

ईएसआई योजना की शुरूआत आंध्र प्रदेश के जुड़वां शहर हैदराबाद और सिकंदराबाद में 01.05.1955 में हुई थी। इसके बाद इस योजना को आंध्र प्रदेश के विभिन्न औद्योगिक केन्द्रों में चरणबद्ध तरीके से विस्तार किया गया। 2 जून, 2014 को तेलंगाना राज्य के गठन के बाद 01 मई, 2016 से ईएसआई के विजयवाड़ा उप-क्षेत्रीय कार्यालय को क्षेत्रीय कार्यालय में बदल दिया गया। इससे ईएसआईसी क्षेत्रीय कार्यालय विजयवाड़ा का अधिकार क्षेत्र 01.05.2016 से आंध्र प्रदेश के सभी 13 जिलों तक बढ़ा दिया गया। केन्द्रशासित प्रदेश पुदुचेरी के यनम क्षेत्र को भी आंध्र प्रदेश क्षेत्र से जोड़ दिया गया है।
ईएसआई योजना आंध्र प्रदेश के सभी 13 जिलों में पूरी तरह से लागू है और अभी राज्य में बीमित लोगों और ईएसआई लाभार्थियों की संख्या क्रमशः 16.74 लाख और 64.96 लाख से अधिक है। राज्य में ईएसआई योजना के तहत लाभ पाने वाले कर्मचारियों (फैक्ट्री एवं प्रतिष्ठान) की संख्या 36,422 है। इसके अलावा ईएसआई कानून के तहत 4324 शैक्षणिक संस्थानों, 944 निजी अस्पतालों/शैक्षणिक संस्थानों को भी शामिल किया गया।
बीमित लोगों और उनके आश्रितों को 79 ईएसआई औषधालयों, 335 बिस्तर की क्षमता वाले 4 ईएसआईएस अस्पतालों, 3 नैदानिक केन्द्रों, 123 पैनल क्लीनिक, 98 सम्बद्ध अस्पतालों और 14 सुपर स्पेशियलिटी अस्पतालों के जरिए चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जाएगी। विजयवाड़ा में क्षेत्रीय कार्यालय, विशाखापट्टनम एवं तिरूपति में उप-क्षेत्रीय कार्यालय और 21 शाखा कार्यालयों के जरिए ईएसआई योजनाएं चलाई जा रही हैं और बीमित लोगों एवं उनके आश्रितों को चिकित्सा सेवाएं मिल रही हैं।
इस अवसर पर आंध्र प्रदेश के श्रम, रोजगार, प्रशिक्षण एवं फैक्ट्री मंत्री श्री पी. सत्यनारायण, तिरूपति से विधायक सुश्री एम. सुगुनम्मा, ईएसआईसी के महानिदेशक श्री राज कुमार और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।