मुज़फ्फरनगर उत्तर प्रदेश मे महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की बढ़ती घटनाओं को लेकर जहां एक और सख्त कानून पारित किया गया है तो वहीं उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में इस कानून से बेखबर व बिना खोफ के एक युवक ने अपनी एक महिला साथी के साथ मिलकर एक युवती की अश्लील फोटो लेकर खुलेआम सोशल मीडिया पर सार्वजनिक कर दी. पीड़ित युवती ने जब इसकी शिकायत मुजफ्फरनगर पुलिस से की तो पुलिस ने 25 दिन थाने के चक्कर कटा कर यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि तुम्हारा केस अब क्राइम ब्रांच में ट्रांसफर हो गया है और अब थाने से इस केस कोई मतलब नहीं है 25 दिन बीत जाने के बाद भी मुजफ्फरनगर पुलिस आज तक इस पूरे मामले में किसी व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं कर पाई है जबकि पूरा मामला बिल्कुल साफ है कि एक युवक ने अपनी महिला मित्र के साथ मिलकर पहले युवती की अश्लील फोटो ली और फिर भी उसको देह व्यापार में धकेलने का पूरा दबाव बनाया. लेकिन मुजफ्फरनगर पुलिस पूरे मामले की सच्चाई हकीकत जानने के बाद भी पिछले 25 दिनों से युवती को थाने के चक्कर कटवा रही है आपको बता दें कि पीड़ित युवती के परिजन में कोई नहीं है पिता की 15 वर्ष पहले मृत्यु हो गई थी और मां युवती को 13 वर्ष की आयु में छोड़कर कहीं चली गई थी अब यह युवती केवल भगवान के भरोसे जिंदा है आखिर जाए तो जाए कहां मुजफ्फरनगर में पुलिस के आला अधिकारियों से इंसाफ की भीख मांग मांग कर थक चुकी युवती ने मीडिया के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इंसाफ की गुहार लगाई है. अश्लील फोटो पोस्ट करने वाले युवक ने पहले उसको अपने जाल में फंसाया और अपने साथ संबंध बनाने को मजबूर किया और धमकी दी कि अगर तुम संबंध नहीं बनाओगी तो तुम्हारे फोटो वायरल कर दिए जाएंगे और तुम कहीं कि नहीं रहोगी ना कोई शादी करेगा. जब युवती आरोपी युवक अमजद की कोई बात नहीं मानी तो युवक ने अपनी महिला साथी के साथ मिलकर युवती के अश्लील फोटो वायरल कर दिए
मामला मुज़फ्फरनगर नगर कोतवाली थाना क्षेत्र का है जहां सुनीता (काल्पनिक नाम) की एक युवती के अश्लील फोटो वायरल करने के मामले को आज 25 दिन बीत जाने के बाद भी योगी पुलिस की नींद नहीं टूटी जबकि फोटो वायरल होने के बाद पीड़ित युवती शर्म के मारे इधर-उधर लोक लज्जा के कारण अपने आप को छिपाती फिर रही है आखिर पुलिस क्यों नहीं कर रही कोई कार्यवाही
दरअसल मामला 12 अप्रैल 2018 में मुज़फ्फरनगर नगर कोतवाली पुलिस ने पूरे मामले पर छानबीन कर मामला दर्ज कर लिया था लेकिन तब से लेकर आज पुलिस ने इस मामले में एक भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया आपको बताते चलें कि मामले की शुरुआत 15-03-2017 से शुरू हुई थी जब आरोपी युवक अमजद ने अपनी महिला साथी बबीता के साथ मिलकर रिया के अश्लील फोटो उतारे थे और वायरल किए थे सब पीड़िता ने इस पूरी घटना की तहरीर मुजफ्फरनगर कोतवाली पुलिस चौकी रुड़की चुंगी पर तैनात नगर कोतवाली पुलिस के दरोगा प्रदीप चीमा को दी थी जिसमें उस समय प्रदीप चीमा नाम के दरोगा ने आरोपी पक्ष से सुविधा शुल्क लेकर आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की थी. तभी से आरोपियों के हौसले और बुलंद हो गए थे और फिर से युवती को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया था और फोटो वायरल करने शुरू कर दिए असल बात यह है कि अगर पुलिस उसी दिन इस मामले को गंभीरता लेकर आरोपियों के खिलाफ उचित कार्यवाही कर देती तो सायद आरोपी दोबारा इस तरह की हरकत करना तो दूर इस बारे सोचते भी नहीं मुज़फ्फरनगर में आला अधिकारियों से इंसाफ की भीख मांग मांग कर थक चुकी युवती ने अब मीडिया के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से इंसाफ की गुहार लगाई है जब मिडिया के संज्ञान में आया और इस पुरे प्रकरण में मिडिया ने मुज़फ्फरनगर पुलिस के आला अधिकरियों से पूरी घटना का सच जानना चाहा तो पुलिस के आला अधिकरियों ने मिडिया के कैमरे के सामने आने से मना कर दिया और इस मामले की जानकारी से पल्ला झाड़ दिया.
Share To:

News For Bharat

Post A Comment:

0 comments so far,add yours